Wednesday, June 19, 2024
HomenationalChinese Visa Scam Case: कार्ति चिदंबरम की लोकसभा स्पीकर को चिट्ठी, 'संसदीय...

Chinese Visa Scam Case: कार्ति चिदंबरम की लोकसभा स्पीकर को चिट्ठी, ‘संसदीय विशेषाधिकार का घोर उल्लंघन कर रही सीबीआइ’।

Visa Scam Case वीजा घोटाला मामले में कांग्रेस सांसद कार्ति चिदंबरम शुक्रवार को फिर सीबीआइ के सामने पेश हुए। उन्होंने लोकसभा स्पीकर ओम बिरला को चिट्ठी लिखकर कहा कि सीबीआइ द्वारा संसदीय विशेषाधिकार का घोर उल्लंघन किया जा रहा है।

नई दिल्ली, एएनआइ। चीनी नागरिकों को वीजा दिलाने के मामले में फंसे कांग्रेस सांसद कार्ति चिदंबरम ने लोकसभा स्पीकर ओम बिरला को चिट्ठी लिखी है। इस चिट्ठी में उन्होंने सीबीआइ द्वारा पूछताछ किए जाने का जिक्र किया है। कार्ति ने चिट्ठी में कहा कि सीबीआइ द्वारा संसदीय विशेषाधिकार का घोर उल्लंघन किया जा रहा है।

लगातार दूसरे दिन पेशी

कार्ति चिदंबरम शुक्रवार को लगातार भी सीबीआइ मुख्यालय पहुंचे। इस दौरान उन्होंने कहा कि सीबीआइ का मुझे फोन करना उनका विशेषाधिकार है और जाना मेरा कर्तव्य है

गौरतलब है कि कार्ति चिदंबरम 263 चीनी नागरिकों को वीजा दिलाने से संबंधित एक कथित घोटाले की जांच के मामले में पूछताछ के लिए गुरुवार को भी सीबीआइ मुख्यालय पहुंचे। यह मामला वर्ष 2011 का है। उस वक्त कार्ति के पिता पी चिदंबरम केंद्रीय गृह मंत्री थे।

असंवैधानिक कार्रवाई का शिकार हुआ मैं -कार्ति चिदंबरम

कार्ति चिदंबरम ने दावा किया कि वह पूरी तरह से अवैध और स्पष्ट रूप से असंवैधानिक कार्रवाई का शिकार हो गया है। उन्होंने कहा कि केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने सरकार के 11 साल पुराने फैसले में ‘जांच करने की आड़ में’ दिल्ली में उनके आवास पर छापा मारा, जिसमें उनकी कोई संलिप्तता नहीं थी।

कांग्रेस सांसद ने आरोप लगाया कि सीबीआई के कुछ अधिकारियों ने सूचना और प्रौद्योगिकी के लिए संसदीय स्थायी समिति से संबंधित उनके बेहद गोपनीय और संवेदनशील व्यक्तिगत नोट और कागजात जब्त किए, जिसके वे सदस्य हैं।

लोकतांत्रिक सिद्धांतों पर एक सीधा हमला

‘सीबीआई द्वारा की गई ये कार्रवाइयां, जहां तक ​​वे एक सांसद के रूप में मेरे कर्तव्यों में हस्तक्षेप से संबंधित हैं, लोकतांत्रिक सिद्धांतों पर एक सीधा हमला है, जिस पर हमारी संसद की स्थापना हुई है। इसलिए, मैं आपसे इस पर तत्काल संज्ञान लेने का आग्रह करता हूं। मुद्दा है, जो मेरे संसदीय विशेषाधिकार का खुला उल्लंघन है।

इस मामले में सीबीआई ने 17 मई को कार्ति के करीबी एस भास्कर रमन को गिरफ्तार किया था। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने कांग्रेस सांसद से जुड़े कथित चीनी वीजा घोटाले के मामले में भी मनी लॉन्ड्रिंग का मामला दर्ज किया था।

वरिष्ठ कांग्रेस नेता पी चिदंबरम 2011 में गृह मंत्री थे

आरोप है कि कार्ति चिदंबरम ने पंजाब में एक बिजली परियोजना को पूरा करने के लिए 263 चीनी नागरिकों को अवैध रूप से वीजा देने के लिए 50 लाख रुपये प्राप्त किए। कार्ति के पिता और वरिष्ठ कांग्रेस नेता पी चिदंबरम 2011 में गृह मंत्री थे लेकिन पी चिदंबरम को प्राथमिकी में आरोपी के रूप में नामित नहीं किया गया है

सांसद के अलावा, सीबीआई ने कार्ति चिदंबरम के चार्टर्ड एकाउंटेंट एस भास्कररमन, तलवंडी साबो पावर लिमिटेड के प्रतिनिधि विकास मखरिया, मानसा स्थित एक निजी कंपनी और बेल टूल्स, मुंबई सहित चार अन्य लोगों के साथ-साथ ‘अज्ञात लोक सेवकों और निजी व्यक्तियों’ के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments