Sunday, June 16, 2024
Homeललितपुरहेडिंग- मेले में मरीज करते रहे डॉक्टर का इंतजार, नहीं मिला उपचार..

हेडिंग- मेले में मरीज करते रहे डॉक्टर का इंतजार, नहीं मिला उपचार..

धौर्रा(ललितपुर)। शासन ने गांव में मरीजों को बेहतर इलाज मुहैया कराने के लिए हर रविवार को आरोग्य मेेले आयोजित करने निर्देश दिए हैं, लेकिन जिले में आरोग्य मेले के नाम पर महज औपचारिकता पूरी की जा रही है। रविवार को ब्लॉक बिरधा क्षेत्र के ग्राम धौर्रा स्थित प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में आयोजित आरोग्य मेले में डॉक्टर ही नहीं पहुंचे। इस दौरान क्षेत्र के गांवों से आए मरीज इंतजार कर बिना उपचार कराए मायूस होकर लौट गए। ग्राम प्रधान ने जिलाधिकारी से कार्रवाई करने की मांग की है। वहीं मामले की जानकारी पर स्वास्थ्य विभाग ने ड्यूटी पर तैनात किए गए डॉक्टर का एक दिन का वेतन काटते हुए स्पष्टीकरण मांगा है।


गांव धौर्रा के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर मुख्यमंत्री आरोग्य मेले का आयोजन किया गया था। इसे लेकर कई दिनों पहले से क्षेत्रभर के गांवों में लोगों को सूचना दे दी गई थी। रविवार सुबह बड़ी संख्या में मरीज प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर पहुंच गए। लेकिन डॉक्टर नहीं आए। भीषण गर्मी में दूरदराज से आए सैकड़ों मरीज घंटों तक डाक्टर का इंतजार करते रहे। समय बीतने के बाद मरीज बिना इलाज कराए मायूस लौट गए। मामले की जानकारी ग्राम प्रधान धीरज यादव को हुई, तो वे मौके पर पहुंचे। उन्होंने बताया कि यहां पर चिकित्सक मेले से गायब रहे। फार्मासिस्ट, लैब सहायक और स्वीपर ही मौजूद रहे।


ग्राम प्रधान ने की जिलाधिकारी से शिकायत
ग्राम पंचायत धौर्रा के ग्राम प्रधान धीरज यादव ने आरोग्य मेला में चिकित्सक न आने की शिकायत को लेकर एसडीएम सदर को शिकायती पत्र दिया। उन्होंने बताया कि प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में चिकित्सक नहीं होने से अधिक परेशान होना पड़ रहा है। मजबूरन मरीजों को ललितपुर जाना पड़ रहा है। उन्होंने कहा मुख्यमंत्री द्वारा चलाई जा रही योजना आरोग्य मेला कागजों में ही चल हो रही है। केंद्र पर तैनात डॉ. हिमांशु साहू का स्थानांतरण होना गलत है। स्वास्थ्य विभाग की मिलीभगत से धौर्रा स्वास्थ्य केंद्र पर डॉक्टर न होने के बाद भी डॉ. हिमांशु साहू का स्थानांतरण कर दिया गया है। उन्होंने मामले की जांच कर कार्रवाई करने की मांग की है।
सुबह से मेले में डॉक्टर को दिखाने आए थे, लेकिन डॉक्टर नहीं आए। इस कारण वापस चले आए। -गोविंद कुशवाहा,मरीज
मेला में डॉक्टरों के आने की बात कही गई थी, लेकिन डॉक्टर के नहीं आने से निराश होकर लौटना पड़ा। -सोबरन सिंह बुंदेला
प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र धौर्रा में आयोजित आरोग्य मेला में डॉ. अनिल कुमार की ड्यूटी लगाई गई थी। उन्होंने तबियत खराब होने की सूचना पूर्व में नहीं दी। इस पर चिकित्सक का एक दिन का वेतन रोक कर स्पष्टीकरण मांगा गया है।
– मुकेश चंद्र दुबे, प्रभारी मुख्य चिकित्सा अधिकारी

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments