Wednesday, June 19, 2024
Homenationalस्वप्ना सुरेश का आरोप, 'केरल के सीएम विजयन को दुबई में नोटों...

स्वप्ना सुरेश का आरोप, ‘केरल के सीएम विजयन को दुबई में नोटों से भरा बैग दिया’।

सोना तस्करी मामले में केरल के मुख्यमंत्री पी विजयन पर गंभीर आरोप लगे हैं। मुख्य आरोपी स्वप्ना सुरेश ने कहा कि उन्होंने विजयन को दुबई में नोटों से भरा बैग दिया था। स्वप्ना के आरोपों पर सीएम ने पलटवार किया है। उन्होंने इसे राजनीति से प्रेरित बताया है।

कोच्चि, एएनआइ। केरल चर्चित सोना तस्करी कांड की मुख्य आरोपी स्वप्ना सुरेश ने मुख्यमंत्री पी विजयन पर गंभीर आरोप लगाए हैं। स्वप्ना सुरेश ने मंगलवार को कोर्ट में बड़ा खुलासा किया है। स्वप्ना ने कहा कि सोना तस्करी में राज्य के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन, उनकी पत्नी और बेटी समेत अन्य लोग भी संलिप्त थे। स्वप्ना ने दावा किया कि उन्होंने साल 2016 में जब विजयन दुबई में थे तब नकदी से भरा एक बैग उन्हें दिया था।

स्वप्ना ने कहा, ‘मैं कोर्ट में 164 के तहत अपनी जान पर खतरे के बारे में बयान दर्ज करा चुकी हूं। मैंने कोर्ट में संरक्षण मुहैया कराने की मांग करते हुए एक अर्जी दाखिल की है। अदालत इस पर विचार कर रही है। मैं कोर्ट में एम.शिवशंकर (केरल सीएमओ के तत्कालीन प्रिंसिपल सचिव), मुख्यमंत्री, मुख्यमंत्री की पत्नी कमला, मुख्यमंत्री की बेटी वीणा, उनके सचिव सीएम रवींद्रन, तत्कालीन मुख्य सचिव आइएएस अधिकारी नलिनी नेट्टो और तत्कालीन मंत्री केटी जलील की इस मामले में संलिप्तता के बारे में घोषणा कर चुकी हूं।’

सीएम का पलटवार

सीएम विजयन ने स्वप्ना के आरोपों पर पलटवार किया है। विजयन ने आरोपों को राजनीति से प्रेरित बताया है। उन्होंने कहा, ‘जनता ने इस राजनीतिक एजेंडे को पहले ही खारिज कर दिया था। वह बार-बार आरोपों को दोहरा रही है। इस आरोप में रत्ती भर भी तथ्य नहीं हैं। यदि आपको लगता है कि इन झूठों को फैलाकर आप सरकार और राजनीतिक नेतृत्व के दृढ़ संकल्प को नष्ट कर सकते हैं, तो मैं आपको याद दिला रहा हूं कि यह एक व्यर्थ की कवायद है।’ सीएम ने आगे कहा कि मुझे पूरा विश्वास है कि जनता उन लोगों को उचित जवाब देगी जो सोचते हैं कि वे इससे लाभान्वित हो सकते हैं।

क्या है मामला?

सोने की तस्करी का ये मामला 2019 का है। जुलाई 2019 में सीमा शुल्क विभाग ने करीब 15 करोड़ रुपये का 30 किलो सोना जब्त किया था। इस मामले में 16 महीने जेल में बिताने के बाद आरोपी स्वप्ना को बीते साल नवंबर में रिहा किया गया था। पिनराई विजयन के प्रधान सचिव एम. शिवशंकर की गिरफ्तारी के बाद यह मामला सुर्खियों में आया था। इस मामले में यूएई वाणिज्य दूतावास के एक पूर्व कर्मचारी को भी गिरफ्तार किया गया था। इसके बाद स्वप्ना सुरेश और संदीप नायर को गिरफ्तार किया गया।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments