Wednesday, June 19, 2024
Homeमनोरंजनपृथ्वीराज की शौर्यगाथा सुन दिल दे बैठीं संयोगिता, स्वयंवर छोड़ मूर्ति को...

पृथ्वीराज की शौर्यगाथा सुन दिल दे बैठीं संयोगिता, स्वयंवर छोड़ मूर्ति को पहनाई वरमाला..

Prithviraj Trailer Release: अक्षय कुमार (Akshay Kumar) स्टारर ‘पृथ्वीराज’ (Prithviraj Trailer) का ट्रेलर रिलीज हो गया है. इस ट्रेलर में रोमांस के साथ दिखाया गया है एक्शन का जोरदार मसाला.

Prithviraj Trailer Release: अक्षय कुमार (Akshay Kumar) की बहुप्रतीक्षित फिल्म ‘पृथ्वीराज’ का ट्रेलर सामने आ गया है. इस फिल्म में पृथ्वीराज की यशगाथा के खूबसूरती से दिखाने की कोशिश की जा रही है. ‘पृथ्वीराज’ का ट्रेलर सामने आते ही फैंस बड़े उत्साहित हो रहे हैं और एक्टर पर जमकर अपना प्यार बरसा रहे हैं. इस फिल्म से मिस वर्ल्ड रह चुकीं मानुषी छिल्लर अपना बॉलीवुड डेब्यू कर रही हैं.

अक्षय का शानदार ट्रेलर

अक्षय कुमार (Akshay Kumar) ने ट्रेलर को शेयर करते हुए अपने सोशल मीडिया अकाउंट्स पर लिखा, ‘शौर्य और वीरता की अमर कहानी. ये है कहानी सम्राट पृथ्वीराज चौहान की. हिंदी, तमिल और तेलुगु भाषा में रिलीज हो रहा है ट्रेलर. जश्न मनाएं. सम्राट #पृथ्वीराज चौहान #YRF50 के साथ 3 जून को आपके नजदीकी थिएटर में.’ एक्टर ने इस पोस्ट के साथ फिल्म का ट्रेलर भी रिलीज किया है.

ट्रेलर में दिखाए गए किरदार

अगर ट्रेलर की बात करें तो इसकी शुरुआत एक भव्य समारोह से होती है, जहां पृथ्वीराज को दिल्ली के शासक के रूप में ताज पहनाया जाता है और दिखाया जाता है कि कैसे उनकी बहादुरी की कहानियों ने संयोगिता पर जीत हासिल की. इसमें संजय दत्त को पृथ्वीराज के अंधे चाचा के रूप में भी दिखाया गया है. सोनू सूद पृथ्वीराज के वफादार दोस्त चंद्र वरदई के रूप में दिखाई दे रहे हैं. मानव विज आक्रमणकारी सुल्तान मोहम्मद गोरी के रूप में एंट्री लेते हैं और दिल्ली के खिलाफ युद्ध की घोषणा करता है. पृथ्वीराज युद्ध के मैदान में उसका सामना करता है.

एक्शन के साथ रोमांस

पृथ्वीराज का ट्रेलर दमदार एक्शन के साथ एक खूबसूरत प्रेम कहानी को भी दर्शाता है. मानुषी भले ही इस फिल्म से डेब्यू कर रही हों, लेकिन फिल्म में उनकी झलक देखकर यह नहीं लग रहा कि वो फिल्म इंडस्ट्री में अभी न्यूकमर हैं. अक्षय कुमार की एक्टिंग की बात करें तो वो भी लाजवाब दिखी. इस फिल्म का ट्रेलर आने के साथ लोगों को संजय लीला भंसाली की ‘बाजीराव मस्तानी’ की भी याद आ गई. 

कौन थे पृथ्वीराज

पृथ्वीराज चौहान की कई कहानियां प्रचलित हैं. कहा जाता है कि वो बचपन से ही एक कुशल योद्धा थे, उन्होंने युद्ध के अनेक गुण सीखे थे. आपको बता दें, पृथ्वीराज के दादा अंगम दिल्ली के शासक थे. उन्होंने पृथ्वी चौहान के साहस और बहादुरी के किस्से सुनने के बाद उन्हें दिल्ली के सिंहासन का उत्तराधिकारी घोषित कर दिया. कहा तो यह भी जाता है कि पृथ्वीराज इतने बलवान थे कि एक बार उन्होंने बिना किसी हथियार की मदद से शेर को मार डाला था.

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments