Wednesday, June 19, 2024
Homeन्यूज़केन-बेतवा लिंक प्रोजेक्ट से गोविंद सागर बांध को मिल सकता है जाखलौन...

केन-बेतवा लिंक प्रोजेक्ट से गोविंद सागर बांध को मिल सकता है जाखलौन पंप कैनाल से पानी।

ललितपुर। केन बेतवा लिंक प्रोजेक्ट से गोविंद सागर बांध को जाखलौन पंप कैनाल से पानी लिफ्ट करने की उम्मीद जगी है। इस प्रोजेक्ट के पूरा होने के बाद राजघाट बांध में यूपी के हिस्से वाले पानी को जाखलौन पंप कैनाल से लिफ्ट करके गोविंद सागर बांध को भरा जाएगा। गोविंद सागर बांध में वर्ष भर पर्याप्त पानी रहने से शहरी व आसपास के ग्रामीण इलाकों की पेयजल समस्या काफी हद तक दूर हो जाएगी। नेहरू नगर, चांदमारी पाइपलाइन परियोजना के लिए यह योजना महत्वपूूर्ण होगी।


जाखलौन पंप कैनाल से पानी लिफ्ट कर गोविंद सागर बांध में डालने के लिए बनाई योजना कई वर्षों से अधर में लटकी हुई है। गोविंद सागर बांध में गर्मी के मौसम पानी कम रहने के चलते शहर के लोगों को पानी की किल्लत का सामना करना पड़ता है। इतना ही नहीं गोविंद सागर बांध में कम पानी रहने से नेहरू नगर, चांदमारी पाइपलाइन परियोजना भी वर्षों से अधूरी पड़ी है, लेकिन अब केन बेतवा लिंक प्रोजेक्ट के मंजूर होने से गोविंद सागर बांध को भरने की उम्मीद बढ़ गई है। इस प्रोजेक्ट के पूरा होने के बाद यूपी के हिस्से वाले पानी को जाखलौन पंप कैनाल से लिफ्ट कराके गोविंद सागर बांध को भरा जाएगा। जिस कारण बांध में वर्षभर पानी रहेगा। शहरी और आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों की पानी समस्या काफी हद तक दूर हो जाएगी।


चार हजार का प्रोजेक्ट अब हुआ कई गुना महंगा
कुछ वर्ष पूर्व जब जाखलौन पंप कैनाल से गोविंद सागर बांध में पानी लिफ्ट कराने की कार्ययोजना बनाई गई थी। तब इस प्रोजेक्ट पर आने वाली कुल लागत चार करोड़ थी लेकिन अब इस प्रोजेक्ट की लागत में करीब 10 गुना का इजाफा हो गया है। सिंचाई विभाग इस प्रोजेक्ट की कार्ययोजना बनाकर प्रतिवर्ष शासन को भेजता है। लेकिन प्रोजेक्ट को पूरा करने के लिए तो धन मिला और न ही मंजूरी।
केन बेतवा प्रोजेक्ट से जिला भी होगा लाभांवित
केन-बेतवा लिंक परियोजना से गर्मी के दिनों में पानी की समस्या झेलने वाले जिले को काफी फायदा होगा। इस परियोजना से जनपद सहित बांदा, जालौन, महोबा, हमीरपुर, चित्रकूटधाम, झांसी को लाभ पहुंचेगा।
एमपी-यूपी में पानी के बंटवारे के कारण से नेहरू नगर, चांदमारी पाइपलाइन परियोजना अधर में लटकी है। केन बेतवा प्रोजेक्ट के बाद इस योजना के पुन: चालू होने की उम्मीद जाग गई है। -मनमोहन, अधिशासी अभियंता सिंचाई विभाग

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments