Sunday, June 16, 2024
HomeUncategorizedकलेक्ट्रेट से हुई मोटरसाइकिल चोरी

कलेक्ट्रेट से हुई मोटरसाइकिल चोरी

जिलाधिकारी कार्यालय परिसर में मोटरसाइकिल चुरा कर चोर ने दी पुलिस को चुनौती।

यदि आप जिलाधिकारी कार्यालय जा रहे है तो दो लोग जाइये एक गाड़ी की सुरक्षा के लिए एक परिसर में अपने काम के लिए ।

एक तरफ तो ललितपुर पुलिस अधीक्षक ने चोरी की बढ़ती घटनाओं को रोकने के लिए चोरों के खिलाफ अभियान छेड़ रखा है।वहीं आज एक चोर ने पुलिस को खुली चुनौती देते हुए सबसे सुरक्षित जगह जिलाधिकारी कार्यालय परिसर से मोटरसाइकिल चोरी कर घटना को अंजाम दे दिया। इस घटना से साफ जाहिर है कि बेखौफ़ चोरों के हौंसले काफी बुलंद हैं। ललितपुर में आज जिलाधिकारी कार्यालय में किसी काम से आये कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला चौबयाना निवासी एक व्यक्ति अपनी माँ के साथ मोटरसाइकिल पर सवार होकर घर से निकला था। ज्यों ही काम निपटा कर बापस मोटरसाइकिल उठाने पहुंचा तो मोटरसाइकिल नदारद थी।
घटना की सूचना तुरंत पुलिस को दी गई।
वहीं कार्यालय के गेट पर लगे CCTV में चोर की तस्वीरें कैद हो गई जिसमें लाल रंग की शर्ट पहने चोर ने मास्क से मुंह को ढक रखा है लेकिन मोटरसाइकिल साफ तौर पर पहचानी गई है।
CCTV फुटेज के आधार पर पुलिस अब चोर तक पहुंचने का प्रयास कर रही है।
लेकिन इस घटना से पुलिस की काफी की किरकिरी हो रही है।

Previous articleभगवान आदिनाथ कॉलेज ऑफ एजुकेशन में शारीरिक शिक्षा विभाग द्वारा मिशन शक्ति 3.0 का किया गया वेबिनार आयोजन
Next articleजीआईसी छात्रों के साथ किया गया अपराधियो जैसा सलूक
क्या वल प्रयोग करने से छात्रों का भविष्य सुधर ?
लगातार जनपद ललितपुर जिलाधिकारी को ज्ञापन देने के बाद भी छात्रों के भविष्य का नहीं हो पा रहा है निवारण आपको बता दें कि जनपद ललितपुर में करीब 1 माह से लगातार छात्र जिलाधिकारी को दे रहे हैं ज्ञापन जिसमें जीआईसी छात्रों का भविष्य अंधकार में लटका हुआ है ।जिसमें विद्यालय प्रबंधन की गलती से अंक तालिका में अंक ना होने के कारण छात्रों को प्रवेश के लिए वंचित कर दिया जाता है ।जिसके लिए छात्रों दो दिन पहले ललितपुर की हृदय स्थली घंटाघर चौराहे पर धरना प्रदर्शन किया लेकिन कोई निवारण नहीं निकला   इसके एवज में छात्रों ने सोचा कि जहां से वह अध्ययनरत थे क्यों ना वहां जाकर धरना प्रदर्शन किया जाए लेकिन इसके बदले में प्रशासन अपना पल्ला झाड़ता हुआ भारी पुलिस बल के साथ छात्रों पर बल प्रयोग कर वहां से हटाया गया और छात्रों के साथ अपराधियों जैसा व्यवहार किया गया । क्या बल प्रयोग करने से छात्रों की समस्या का समाधान हो जाएगा ?
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments