Tuesday, June 25, 2024
Homeललितपुरआजादी में ब्राह्मणों की भूमिका रही महत्वपूर्ण ।

आजादी में ब्राह्मणों की भूमिका रही महत्वपूर्ण ।

ललितपुर। विक्रम संवत 2079 श्रावण मास शुक्ल तृतीया तदानुसार रविवार को अखिल भारतीय ब्राह्मण एकता एवं विकास परिषद की मासिक बैठक पं रामगुलाम भौंड़ेले के निवास ग्राम महोली में सम्पन्न हुयी। बैठक में मुख्य अतिथि प्रांतीय सचिव पं. सुबोध शर्मा ‘विश्वासÓ रहे, जबकि अध्यक्षता पं.श्रीराम भौंड़ेले (महोली) ने की। उन्होंने अपने उद्बोधन में कहा कि ब्राह्मण वही है जो ब्रह्म के करीब है। ब्राह्मण को किसी भी परिस्थिति में अपना ब्राह्मणत्व नहीं खोना चाहिए। ब्राह्मण सभी समाज का मार्गदर्शक है। कहा कि ब्राह्मण दिन-प्रतिदिन संस्कारविहीन होता जा रहा है। हमें स्वयं व अपने बच्चों को सुसंस्कार देना चाहिये। इसी क्रम में हरीराम पाराशर (डोंगराकलां) ने कहा कि आजादी की लड़ाई में ब्राह्मणों का देश के प्रति त्याग और बलिदान कम नहीं है। परन्तु ब्राह्मणों के साथ सदा ही सौतेला व्यवहार किया गया है। हम सभी को जागरूक होने की आवश्यकता है। बैठक में मनोहर शर्मा, सुमित कटारे बालाबेहट, जिला उपाध्यक्ष प्रकाश नारायण चतुर्वेदी (विरधा), नगर अध्यक्ष रूपनारायण त्रिवेदी गोल्डी (पनारी), नगर संगठन मंत्री अमित चौबे, रविशंकर शर्मा, दीपक व्यास (बालाबेहट), रामगुलाम अजाती (डोरना) आदि ने यज्ञोपवीत संस्कार, दहेज प्रथा, के अलावा समाज की एकता व विकास के लिए महत्वपूर्ण सुझाव दिये। बैठक के शुभारंभ व समापन के अवसर पर वैदिक श्लोकों का वाचन किया गया। बैठक के अंत में रामगुलाम भौंड़ेले ने सभी आगंतुकों के प्रति हार्दिक आभार प्रकट किया।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments